मुख्तार अंसारी की तबीयत बिगड़ी, गंभीर हालत में अस्पताल में कराया भर्ती

मित्रों जैसा की आप सभी अवगत ही होगें कि योगी सरकार ने अपराध मुक्त प्रदेश अभियान के तहत माफियाओं और गैंगस्टर के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्यवाही की है, बीते कार्यकाल में सरकार ने कई बड़े माफिया गिरोहों समेत प्रदेश के हजारो अपराधियों की कमर तोड़ने में कोई कसर नही छोड़ी है। ऐसे में प्रदेश सरकार की इस कार्यवाही से जहां माफिया गिरोहों में दहशत का माहौल है तो वहीं दूसरी ओर जेल में बन्द माफिया डॉन मुख्तार अंसारी की अचानक तबीयत खराब होने पर उसे मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।  

आपको बता दें कि माफिया डॉन विधायक मुख्तार अंसारी की तबीयत बांदा जेल में मंगलवार दोपहर अचानक बिगड़ गई,  आनन-फानन में उन्हें मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया, फिलहाल मुख्तार अंसारी की तबीयत ठीक है। मुख्तार अंसारी को 6 अप्रैल को पंजाब की रोपण जेल से बांदा जेल लाया गया था, करीब पांच महीने के बाद उसे जेल से बाहर कहीं ले जाया गया है, हालांकि इस दौरान मऊ, आजमगढ़, प्रयागराज और बाराबंकी की अदालतों में उसकी पेशी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई थी मिली जानकारी के मुताबिक, मुख्तार अंसारी की मंगलवार सुबह तबीयत बिगड़ने पर जेल अस्पताल ले जाया गया, लेकिन यहां हालत में कोई सुधार होता नहीं दिखा तो मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि मेडिकल कॉलेज में सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हैं, पुलिस और पीएसी के जवान तैनात हैं, मुख्तार की हालत गंभीर बताई जा रही है। हालाकि इससे पहले भी बांदा जेल में मुख्तार अंसारी की तबीयत बिगड़ चुकी है, पंजाब की जेल में जाने से पहले भी मुख्तार अंसारी यहां बंद था, उस समय उसे लखनऊ में भर्ती कराया गया था, मुख्तार के भाई और सांसद अफजाल अंसारी का आरोप था कि उन्हें चाय में जहर दिया गया था। बांदा जेल अधीक्षक प्रभाकांत पांडेय ने बताया कि फिलहाल मीटिंग चल रही है, इसलिए इस बारे में कुछ स्पष्ट नहीं बताया जा सकता है, इससे पहले, मुख्तार अंसारी को-रोना पॉजिटिव पाए गए थे, एंटीजन कोविड टेस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है? मित्रों अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

Leave a comment

Your email address will not be published.