अमिताभ से शाहरूख तक इस महारानी की खूबसूरती पर फिदा थे सभी

मित्रों बॉलीवुड जगत से कई ऐसी कहानियां जुड़ी हुई है, जिनसे शायद ही हम लोग अवगत होगें, हम लोगों ने बहुत सी फिल्मे़ देखी होगी, पर आपको बता दे कि बहुत सारी फिल्मों में एक ऐसी भी फिल्म बनी है, जो एक बहुत ही खूबसूरत महारानी पर फिल्मायी गई है, दरअसल इस महारानी पर बड़े बड़े दिग्गज अभिनेता फिदा थे। आज हम इसी महारानी से संबंधित कुछ खास जानकारी देने वाले है।

दरअसल आप लोगों ने रिलीज हुई फिल्म बादशाहों तो देखी ही होगी। यह फिल्म सन् 1975 में आपालकाल के दौर पर आधारित थी, इस फिल्म में दिखाया गया था, कि सरकार के आदेश पर किस तरह से फौज ने महारानी गायत्री देवी के किले पर छापा मार कर उनके महल से सोने और चांदी के गहने जब्त कर लिये थे, इस फिल्म में इलियाना डी’क्रूज़ के किरदार का नाम ‘रानी गीतांजलि देवी’ था, पर उनका किरदार काफी हद तक महारानी गायत्री देवी के जीवन से प्रेरित था। जानकारी के लिये बताते चले 70 के दशक में महारानी गायत्री देवी को उनकी खूबसूरती और मॉडर्न अंदाज के लिये जाना जाता था।

आपकी जानकारी के लिये बता दे कि गायत्री देवी का जन्म 23 मई 1919 में लंदन यूनाइटेड किंगडम में हुआ था। गायत्री देवी का निधन 29 जुलाई 2009 को जयपुर में हुआ था। राजघराने की रानी गायत्री देवी इतनी खूबसूरत थी कि बॉलीवुड के बादशाह शाहरूख खान और सदी के महानायक अमिताभ बच्चन भी उनके दिवाने हो गए थे। आपको बता दे कि गायत्री देवी के पिता कूच बिहार के राजा और मां इंदिरा राजे मरोड़ा की मराठा राजकुमारी थी, ये राजघराने से ताल्लुक रखने वाली महारानी का विवाह महज 17 वर्ष की उम्र में जयपुर के महाराजा मान सिंह द्वितीय से हुआ था,

हालांकि इनकी शादी से पहले राजा की दो पत्नियां पहले से ही थी। जानते हुये गायत्री देवी इस शादी के लिये राजी हो गई थी। ये मंहगे शौक रखती थी और इनके पास मर्सिडीज बेन्जत W126 इम्पोहर्ट करके मंगवाई थी, महारानी ने सन 1962 में जयपुर से चक्रवर्ती राजगोपालाचारी द्वारा स्थापित ‘स्वतंत्र पार्टी’ से चुनाव लड़ा और नतीजा जीत दर्ज की। उनकी जीत इतनी बड़ी थी कि उनका नाम गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हो गया।

अमिताभ ने रानी गायत्री देवी के बारे में लिखा है, कि : “ मैं कॉलेज के दिनों में महारानी गायत्री देवी को देखने के लिए पोलो ग्रांउड में मैच खेलने जाया करता था, गायत्री देवी की खूबसूरती का जिक्र एक बार अपने ब्लॉग के माध्यम से भी किया, जब गायत्री देवी का निधन हुआ उस समय भी अमिताभ ने कहा था कि बेहतरीन मेज़बान और खूबसूरत मूर्ति से कभी मैं मिला था। साफ जाहिर है कि अमिताभ कभी उनसे मिल न सके पर वो दूर से ही उन्हें देखने पोलो ग्रांउड जाया करते थे ” इस संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है? कमेंट बाक्स में अवश्य लिखें।

Leave a comment

Your email address will not be published.