ये है CA Topper भाई-बहन की जोड़ी, बिना कोचिंग के घर पर ही की पढ़ाई, करते थे एक दूसरे की ही कॉपी चेक

मित्रों इस दुनिया में हर व्‍यक्ति के लिये शिक्षा बहुत ही महत्‍वपूर्ण स्‍थान रखती है, अगर शिक्षा की बात करें तो आज के समय में शिक्षा ग्रहण करना भी एक बहुत ही बड़ी बात है, कारण यह है कि शिक्षा के लिये पैसों का होना भी बहुत आवश्‍यक होता है, कई ऐसे लोग होते है जो कि पैसो की कमी होने के कारण अपनी पढ़ाई पर रोक लगा देते है, और कुछ काम करने में लग जाते है पर कुछ ऐसे भी होते है जो हिम्‍मत न हारकर संघर्ष में जुटे रहते है। इसी क्रम में आज हम दो ऐसे भाई-बहन के संबंध में बताने वाले है जो बिना कचिंग के घर पर ही पढ़ाई करते थे। यहां तक की आपस में दोनों एक दूसरे की कॉपी भी चेक करते थे। आज ये भाई-बहन की जोड़ी सीए टॉपर है।

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश की बेटी नंदिनी अग्रवाल ने सीए की फाइनल परीक्षा में टॉप करके पूरे देश में राज्य का नाम ऊंचा कर दिया है। मुरैना जिले की रहने वाली 19 साल की नंदिनी अग्रवाल ने जहां सीए की परीक्षा में पहली रैंक हासिल की है, तो वहीं उनके भाई सचिन अग्रवाल ने ऑल इंडिया में 18वीं रैंक पर कब्जा जमाया है। दोनों भाई-बहनों की सफलता से पूरी परिवार में खुशी का माहौल है। जानकारी के मुताबिक दोनों भाई-बहनों ने साथ-साथ सीए की तैयारी करने के अलावा बचपन से ही साथ में मुरैना के विक्टर कान्वेंट स्कूल में पढ़ाई की है।

दोनों ने बिना कोचिंग के घर पर रहकर ही यह कीर्तिमान हासिल किया है। हालांकि दोनों की उम्र में दो साल का अंतर है, लेकिन दोनों ने बोर्ड की परीक्षाएं साथ में दी है। नंदिता के मुताबिक उसने दो क्लास नहीं पढ़ी थी और भाई के साथ क्लास में आकर साथ में पढ़ाई की। नंदिता और सचिन के पिता नरेश चंद्र गुप्ता एक टैक्स कंसल्टेंट हैं, जबकि मां डिंपल गुप्ता गृहिणी हैं। वहीं दोनों बच्चों ने अपनी सफलता का पूरा श्रेय माता पिता के अलावा एक दूसरे को दिया।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि दोनों भाई बहनों ने अपने पहले ही प्रयास में सफलता को हासिल किया है। दोनों ने बताया कि वो घर में झगड़ते भी थे, लेकिन पढ़ाई के समय दोनों एक दूसरे की कॉपी चेक किया करते थे। यहीं नंदिनी के मुताबिक जब मॉक टेस्ट में उसके खराब मार्क्स आए थे तो भाई ने उसे डिप्रसेड होने से बचाया था। दोनों भाई-बहन पढ़ाई में शुरू से ही होशियार थे। 2017 में दोनों ने 12वीं बोर्ड में 94.5 प्रतिशत अंक लाकर संयुक्त रूप से टॉप किया था।नंदिनी ने कहा कि मैं और भाई स्कूल से एक-साथ पढ़ रहे हैं।

हमने आईपीसीसी और सीए फाइनल के लिए भी एक साथ तैयारी की। दोनों ने एक-दूसरे को अपनी ताकत बताया। वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी दोनों भाई-बहन को ट्वीट कर बधाई दी।सीएम ने लिखा कि हम सभी को आप दोनों पर गर्व है। भविष्य के लिए आपको शुभकामनाएं! इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

Leave a comment

Your email address will not be published.