डीएम ने उर्सला अस्पताल की लम्बी लाइन में खुद खड़े होकर बनवाई पर्ची, 45 मिनट इंतजार के बाद भी नहीं आये डॉक्टर

मित्रों इस दुनिया में डॉक्‍टरों की तुलना भगवान से की गई है, इस बात से तो सब लोग अवगत ही होगें, पर आज हम एक ऐसे अस्पताल की बात करने वाले है, जिसमें कुछ ऐसा हुआ जिसे सुन आप लोग भी सोच में पड़ जायेगें। दरअसल जब भी कोई व्यक्ति बीमार होता है, तो उसका इलाज अस्पताल के डॉक्टर ही करते है और उसको नया जीवन प्रदान करते हैं, पर जरुरी नहीं सभी अस्पतालों में डॉक्टर समय से मौजूद मिलें। क्योंकि हालही में एक ऐसी ही घटना सुनने में आयी जिसमें जिलाधिकारी स्वयं अपनी आंखों का ईलाज कराने पंहुचे उर्सला अस्पताल लाइन में लगकर पर्चा बनाया और 45 मिनट के इंतजार के बाद भी नही मिले डॉक्टर। फिर जो हुआ उसे सुन आप लोग भी हो जायेगें हैरा-न।

दरअसल  उत्तर प्रदेश के कानपुर में जिला अस्पताल उर्सला का हाल जानने के लिए जिलधिकारी औचक निरीक्षण को पहुंच गए, बिना किसी को बताए अकेले जिलाधिकारी उर्सला अस्पताल पहुंच कर उन्होंने लाइन में लगकर पर्चा बनवाया और डॉक्टर को दिखाने के लिए 45 मिनट तक इंतजार करते रहे, 8:45 तक उर्सला अस्पताल में डॉक्टर नहीं पहुंचे थे, उन्होंने अकेले ही पूरे अस्पताल का निरीक्षण किया, जिलाधिकारी विशाख जी अय्यर ने बताया कि अस्पताल में निरीक्षण के दौरान साफ सफाई की भारी कमी मिली, अस्पताल में सुबह से ही मरीज और तीमारदार आने लगते हैं, लेकिन, 8:45 बजे तक अस्पताल में डॉक्टर नहीं पहुंचे थे, जिलाधिकारी ने अस्पताल के डायरेक्टर डॉ किरण सचान को फोन किया और अव्यवस्थाओं के बारे में अवगत कराया, विशाख जी अय्यर ने साफ-सफाई और डॉक्टर के समय से ओपीडी में मौजूद ना होने के लिए जवाब मांगा है।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि जिलाधिकारी विशाख जी सुबह 8:00 बजे उर्सला अस्पताल पहुंच गए, जहां लाइन में लगकर ओपीडी के लिए अपना पर्चा बनवाया, अपनी आंखों के चेकअप के लिए वह नेत्ररोग विभाग के बाहर बैठ गए, जहां तैनात डॉक्टर 45 मिनट तक इंतजार करने के बाद भी नहीं मिले, विशाख जी की पत्नी अपूर्वा द्विवेदी भी आईएएस अधिकारी हैं, दोनों ने दो साल पहले शादी की थी, अपूर्वा वर्तमान में फतेहपुर डीएम के पद पर काम कर रही हैं। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

Leave a comment

Your email address will not be published.