आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद बर्बाद हुए शाहरुख खान, हो गया करोडो का नुकसान

मुंबई में ड्रग मामले में आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद से अभिनेता शाहरुख खान को बहुत सी समस्याओ का सामना करना पड रहा है .बेटे की गयी गलतियों की सजा पिता को मिल रही है .दरअसल जब से आर्यन खान का नाम ड्रग केस से जुदा है और उन्हें हिरासत में लिया गया है .इसका गहरा असर उनके पिता शाहरुख़ खान के काम पर पड़ता नजर आ रहा है .बड़े -बड़े ब्रांड्स जिनके साथ शाहरुख़ काम कर रहे थे उन्होंने भी शाहरुख खान के साथ काम न करने का फैसला लिया है .

SRK के पास हैं कई

द इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले के जानकार लोगों ने कहा कि एडटेक स्टार्टअप ने पिछले कुछ दिनों में ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर काफी ट्रोल का सामना करने के बाद, एडवांस बुकिंग के बावजूद शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) के विज्ञापनों को वापस ले लिया है. खबर की मानें तो संपर्क करने पर बायजू के प्रवक्ता ने इस मामले पर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

इतने करोड़ की थी डील

इस मामले के जानकार लोगों ने बताया कि बायजू से शाहरुख खान की डील 3-4 करोड़ रुपये की सालाना फीस तय गई है. SRK 2017 से कंपनी के ब्रांड एंबेसडर हैं और उनके जुड़ने के बाद कंपनी ने काफी ग्रोथ भी की है. उन्होंने कहा, ‘उन्होंने (बायजू) शाहरुख से जुड़े सभी प्रमोशन फिलहाल रोक दिए हैं. इसे इसलिए पीछे खींचना पड़ा क्योंकि शिक्षा के क्षेत्र में काम करने वाली कंपनी (उनके बेटे से जुड़े ड्रग मामले को लेकर) विवाद को देखते हुए उनके साथ प्रमोशन में नहीं दिखना चाहती. यह स्पष्ट नहीं है कि क्या बायजू ने शाहरुख को ब्रांड एंबेसडर के रूप में छोड़ने का फैसला किया है, इस सूत्र ने कहा. ‘ये विज्ञापन अग्रिम रूप से बुक किए गए थे – जैसा कि प्रक्रिया है – इसलिए उन सभी को रोकने में कुछ समय लगा.’

सोशल मीडिया के युग में बढ़ा जोखिम

क्रिएटिव एड एजेंसी एफसीबी इंडिया के ग्रुप चेयरमैन रोहित ओहरी ने कहा, वर्तमान विवाद के बीच बायजू अपने ब्रांड को बचाने की कोशिश कर रहा है, लेकिन सेलिब्रिटी विज्ञापन हमेशा जोखिम के साथ आते हैं. ‘सोशल मीडिया के युग में, जोखिम बहुत अधिक बढ़ गया है. उदाहरण के लिए, नाइक (Nike) ने टाइगर वुड्स को नहीं छोड़ा, और वास्तव में, गोल्फर के आसपास के विशाल विवाद के बाद वापसी का अभियान चलाया.’

Leave a comment

Your email address will not be published.