माँ लक्ष्मी की कृपा चाहते हो तो आज ही कर लें ये 8 सरल उपाय, कभी नही होगी धन की कमी

मित्रों आज के समय में इतनी मंहगई हो गई है  कि गरीबों को अच्छे तरीके से खाना तक नही मिल पा रहा है। इस दौर में गरीबों के लिये कोई विशेष व्यवस्थाओं अभी तक नही बन पा रही है पर कोशिश हमेशा से रही है कि गरीबों को हर सुविधा मिल सकें, पर मित्रों गरीबी वह एक अभिश्राप है जिसकी वजह से लोगों को कर्ज भी लेना पड़ जाता है और उसी कर्ज में गरीब व्यक्ति डूबता जा रहा है। आज हम बात करने जा रेह है गरीबी और कर्ज से छुटकारा पाने की। आज के युग की या बीते हुये युग की अपार धन की प्राप्ति हर व्यक्ति की चाहत है। सिर्फ चाहने से धन नही मिलता है उसके लिये मन में लगन व तड़प भी होना आवश्यक है। धन सबके भाग्य में होता है, पर किसी के पास कम तो किसी के पास अधिक हो सकता है।

दरअसल मित्रों भगवान विष्णु – लक्ष्मी जी धन से भरी तिजोरी भेज देते है पर उस तिजोरी की चाभी उनके पास ही रहती है, धनी बनने के लिये इसी तिजोरी की चाभी खोजने की आवश्यकता है। इसकी चाभी प्राप्त करने के लिये शुद्ध आचरण और शुद्ध विचार का होना बहुत आवश्यक है, दरिद्रता, गरीबी या कर्ज से छुटकारा पाकर धनवान बनने के लिये यहां प्रस्तुत है प्रयोग किये हुये ऐसे अचूक उपाय जिन्हें प्रयाग में लाने से आप भी धनवान बन सकते है। इसे उपाय कुछ इस प्रकार से है……

पहला उपाय – यह है कि लाल धागे में सातमुखी रूद्राक्ष गले में धारण करने से धन की प्राप्ति होती है।

दूसरा उपाय – सवा पांच किलो आटा एवं सवा किलो गुड़ लें, दोनों का मिश्रण कर रोटियां बना लें, और गुरूवार के दिन सायंकाल गाय को खिलाएं। तीन गुरूवार तक यह कार्य करने से दरिद्रता समाप्त होती है।

तीसरा उपाय – घर के मुख्य द्वार पर सरसों के तेल की दीप जलायें। दीपक बुझने पर बचे हुये तेल को पीपल के पेड़ पर शाम होने पर चढ़ा दे। यह कार्य 7 शनिवार करने से धन की कमी नही रहेगी।

चौथा उपाय – सप्ताह का कोई भी 1 उपवास करें। 07 दिनों के अलग अलग महत्व है जैसा कि सोमवार के व्रत से चन्द्रमा प्रसन्न होते है तो धन के कारक चन्द्रमा होगें। मंगल करेगें तो बजरंगबली, बुध करेगें तो श्री गणेश, गुरू करेगें तो विष्णु जी, शुक्र करेगें तो माँ लक्ष्मी जी, शनि करेगें तो शनिदेव, रविवार करेगें तो सूर्य प्रसन्न होकर धन, सुख और सौभग्य का वरदान देगें।

पांचवा उपाय – महीने में दो बार किसी भी दिन उपले पर लोबान रख कर जलायें। फिर लोबान को घर में चारों ओर घुमा दें। लक्ष्मी जी को लोबान की सुगन्ध बहुत अधिक प्रिय है। सुगंध से खिंची चली आयेंगी।

छठा उपाय – अगर आप अपार धन-समृद्धि चाहते हैं, तो आपको पके हुए मिट्टी के घड़े को लाल रंग से रंगकर, उसके मुख पर नाड़ा यानी मौली बांधकर तथा उसमें जटायुक्त नारियल रखकर बहते हुए जल में प्रवाहित कर देना चाहिए।

सातवां उपाय – प्रतिदिन कौए, गाय और कुत्ते को रोटी खिलाएं। काले कुत्ते को शनिवार के दिन सरसों के तेल से चोपरी हुई रोटी खिलाएं। धनलाभ में आ रही बाधा दूर होगी।

आठवां उपाय – अगर नल से पानी बहता हो तो उसे तुरंत ठीक करायें। शनिवार को घर से मकड़ी के जाले हटाने और साफ – सफाई करने से भी लक्ष्मी जी का घर में आगमन होता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.