बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत सरकार दे रही है लैपटॉप, जाने सच

मित्रों जैसा की आप सभी अवगत ही होगें कि मौजूदा सरकार ने कई ऐसी योजनाओं को लाकर जनता के चेहरे पर एक नई खुशी की लहर दौड़ा दी है, और अपने कार्यों के दम पर जनता की उम्‍मीदों पर खरा उतरने का काम मौजूदा सरकार बखूबी कर रही है, इसमें कोई दो राय नही है। हालांकि इनके कुछ ऐसे विरोधी हमारे बीच है, जो इनपर टांट कसते हुये कई ऐसी अफवाहों को जन्‍म देकर हम लोगों को परेशानी में डाला है, उदाहरण के तौर पर कुछ वर्ष पहले नमक को लेकर काफी हड़कम्‍प मच गया था, जो कि एक अफवाह थी। कुछ ऐसी ही खबर इन दिनों भी सुनने में आ रही है।   

दरअसल क्या आपने कोई विज्ञापन देखा है, जिसमें कहा गया है कि केंद्र सरकार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत नौकरियां, लैपटॉप और मोबाइल फोन दे रही है, तो आपको बता दें कि यह दावा पूरी तरह झूठा और फर्जी है, सरकार इस योजना के तहत ऐसा कुछ नहीं कर रही, इसलिए आप इस दावे पर बिल्कुल भी विश्वास न करें, PIB फैक्ट चेक ने यह जानकारी दी है। PIB फैक्ट चेक ने ट्वीट करके कहा कि एक विज्ञापन सामने आया है, जिसमें कहा गया है कि सरकार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के तहत नौकरियां, लैपटॉप और मोबाइल दे रही है। उसने अपने ट्विटर हैंडल पर बताया कि यह दावा झूठा और फर्जी है। सरकार की ऐसी कोई भी योजना नहीं है, यह धोखाधड़ी की कोशिश है।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि सरकार की इस योजना के तहत किसी भी व्यक्ति को पैसे देने का प्रावधान नहीं है। उसने इस विज्ञापन का फोटो भी शेयर किया है, इसमें दिख रहा है कि लोगों को एसएमएस भेजने को कहा गया है, ऐसा करने पर उन्हें पैसे, लैपटॉप का लालच दिया गया है, उनसे अपना नाम, पता भी एसएमएस भी शेयर करने को कहा गया है, यह अपराधियों द्वारा आपको धोखाधड़ी में फंसाने का जरिया है, इसलिए अगर आप भी यह विज्ञापन कहीं देखते हैं या व्हाट्सऐप पर इसे आपको भेजा जाता है, तो इस पर बिल्कुल विश्वास न करें, इसमें दिए नंबर पर कोई एसएमएस न भेजें और अपनी निजी जानकारी किसी के साथ साझा न करें, ऐसा करके आप फ्रॉड का शिकार हो सकते हैं, इसके साथ ही दूसरे लोगों को भी इस फर्जीवाड़े के बारे में अवगत कराएं, आजकल धोखाधड़ी के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। वहीं बात की जाये PIB की, तो PIB फैक्ट चेक सरकारी नीतियों या स्कीमों पर गलत जानकारी का खंडन करता है, अगर आपको कोई सरकार से संबंधित समाचार के फर्जी होने का शक है, तो आप PIB फैक्ट चेक को इसके बारे में जानकारी दे सकते हैं, इसके लिए आप 918799711259 इस मोबाइल नंबर या [email protected] ईमेल आईडी पर भेज सकते हैं। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

Leave a comment

Your email address will not be published.