भरे मंडप में जीतेन्द्र का हाथ छोड़कर हेमा मालिनी ने थामा था धर्मेंद्र का हाथ

मित्रों जैसा की आप सभी अवगत ही होगें कि फिल्मी जगत में बहुत से कलाकारों ने अपना योगदान दिया है और कुछ लोग इसमे एंट्री लेने में प्रयासरत है। आपको बता दें कि बॉलीवुड में एंट्री पाना कोई आसान बात नही है। हालाकि यह बात तो हम सभी जानते हैं कि फिल्मों में एंट्री पाने के लिए सबसे बड़ा और आसान रास्ता जो होता है वो है आपकी खूबसूरती यानी आप अगर खूबसूरत हैं तो आपको कहीं न कहीं काम अवश्य मिल जायेगा। वहीं बात अगर बॉलीवुड एक्टर्स की करें तो वो किसी न किसी वजह से सोशल मीडिया पर अक्सर सुर्खियों में बने रहते है। वो चाहें उनकी रील लाइफ हो या फिर रियल लाइफ। इसी क्रम में आज हम एक ऐसे किस्से के संबंध में बताने वाले है, जिसे सुन आप लोग भी सोच में पड़ जयेगें।

दरअसल आज हम बात कर रहे है बॉलीवुड की दुनिया में ड्रीम गर्ल के नाम से मशहूर होने वाली अभिनेत्री हेमा मालिनी की, जिनका 16 अक्टूबर 1948 में तमिलनाडु के अम्मंकुदी में हुआ था। हेमा मालिनी का नाम अपने समय की जबरदस्त अभिनेत्रियों की सूची में टॉप पर आज भी शुमार है। उन्होंने हिंदी फिल्म जगत को अपने जबरदस्त अभिनय से कई सुपरहिट फिल्में दी हैं। बड़े पर्दे पर उनकी सुंदरता के सामने सभी मंत्र मुग्ध हो जाया करते थे। उनकी बेहतरीन फिल्में वर्षों पश्चात् भी देखी जाती हैं। हेमा जितना अपनी मूवीज के लिए लोकप्रिय रही हैं। उतना ही वह अपनी निजी जिंदगी के लिए भी सुर्ख़ियों में रही हैं। एक्टर धर्मेंद्र संग उनकी प्रेम कहानी आज भी बॉलीवुड जगत में बहुत लोकप्रिय है।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि सन 1965 में फिल्म ‘आसमान महल’ के प्रीमियर के चलते धर्मेंद्र एवं हेमा मालिनी पहली बार एक-दूसरे के आमने-सामने आए थे। इस मूवी के डायरेक्टर ख्वाजा अहमद अब्बास थे। धर्मेंद्र जब हेमा से मिले थे तो उनका इंडस्ट्री में अच्छा खासा नाम बन चुका था। वह अपनी सुंदरता एवं एक्टिंग के लिए बहुत सुर्ख़ियों में रहा करते थे। एवं हेमा ने पहली ही फिल्म की थी। जो कि फ्लॉप रही थी। इस पहली ही मुलाकात में दोनों की नज़रें मिलीं एवं दोनों एक-दूसरे के नजदीक आने लगे। वैसे तो एक्ट्रेस आज भी अपनी सुंदरता से लाखों लोगों के दिलों में राज करती हैं। किन्तु गुज़रें जमाने में उनकी सुंदरता के दीवाने एक्टर जीतेंद्र भी हो गए थे।

वह बहुत वक़्त से हेमा मालिनी के चक्कर में पड़े रहे, किन्तु हेमा थीं कि उन्हें धर्मेंद्र के सामने सभी फीके दिखाई देते थे। लाख प्रयास करने के पश्चात् भी जीतेंद्र के हाथ हेमा नहीं आई। वहीं दूसरी ओर हेमा की मां को जीतेंद्र बेहद पसंद थे। वह दोनों के विवाह के सपने सजाने लगी थी। दरअसल हुआ कुछ यूं कि जीतेंद्र एवं हेमा बगैर बताए रातोंरात अपने परिवार के साथ मद्रास चले गए। जहां उनके परिजनों ने उनकी शादी की योजना बनाई हुई थी। यह खबर एक अखबार एंजेसी को लग गई तथा खबर न्यूज़ पेपर में पब्लिश हो गई। जैसे ही यह बात धर्मेंद्र को पता चली वह तत्काल जीतेंद्र की गर्लफ्रेंड शोभा के घर गए एवं दोनों ही मद्रास की ओर रवाना हो गए एवं दोनों की शादी को रूकवाने में सफल रहे। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

Leave a comment

Your email address will not be published.