ताश के पत्तों जैसे गिरने लगे घर, केरल में तबाही को बयान कर रहे है ये वीडियो

मित्रों इस बात में तो कोई दो राय नही है कि इस सृष्टि में जो भी प्राकृतिक घटनायें होती है उसमें अधिकतर तो हम लोगों की ही गलती रहती है पर इन प्राकृतिक घटनाओं को भयंकर रूप लेने से वही शक्ति रोकने में समर्थ है। आपको बता दें कि जहां एक ओर को-रोना वायरस जैसी महामारी से पूरी दुनिया लड़ रही है तो वहीं दूसरी ओर प्राकृति कहर बरपाने में कोई कसर नही छोड़ रही है, क्योंकि अभी अभी मिली जानकारी के मुताविक केरल में लगातार बारिश की वजह से ताश की पत्तों की तरह घर गिरने लगे है। जिसका वीडियों देख आप लोगों के भी रोंग-टे खड़े हो जायेगें।    

आपको बता दें कि केरल में इस वक्त भारी बारिश की वजह से बाढ़ आई हुई है, जिसने भयंकर हालात पैदा कर दिए हैं, भारी बारिश की वजह से सड़कें, नदियां पानी से लबालब भरी हुई हैं, कहीं कारें पानी में तैरती दिख रही हैं, तो कहीं नदी किनारे मौजूद घर धराशायी होकर पानी में समा रहे हैं,  इतना ही नहीं केरल की इस जानलेवा बारिश ने अबतक 26 जिंदगियां ले ली है। जानकारी के मुताविक केरल से जो ताजा तस्वीरें आई हैं वे भी दिल को तसल्ली देने वाली नहीं हैं, अब भी तिरुवल्ला में घर डूबे हुए हैं, लोग इन्हें छोड़कर सुरक्षित जगह जाने को मजबूर हो गए। केरल में बारिश प्रभावित जिलों में आज भी ऑरेंज अलर्ट जारी है। राहत बचाव कार्य भी चल रहा है। बीती रात भी वहां रुक-रुककर कई इलाकों में बारिश हुई। आज पटनमथीटा के निचले इलाकों में बाढ़ की आशंका है।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि केरल में NRDF की टीमें तैनात की गई हैं, जानकारी के मुताबिक, पंबा नदी पर बने Kakki बांध के गेट खोले जाएंगे, बांध से आने वाला पानी निचले इलाकों को प्रभावित कर सकता है जिससे स्थिति गंभीर हो सकती है। इस बीच कई भयंकर वीडियो भी सामने आए हैं, किसी में गाड़ियां पानी में तैरती दिख रही हैं, वहीं कोट्टायम के मुंडकायम से भी एक वीडियो सामने आया, वहां भारी बारिश के बाद नदी का जलस्तर इतना बढ़ गया कि पानी वहां मौजूद एक घर को ही बहाकर ले गया, कुछ और वीडियोज भी सोशल मीडिया पर वायरल हैं, इसमें पेड़ के पेड़ पानी के भारी प्रेशर से कट गए हैं और नदी में बहते दिख रहे हैं।

एक्सपर्ट का कहना है कि केरल में छोटे बादल फटने की घटनाओं की वजह से बाढ़ आई और भूस्खलन हुआ, न्यूज एजेंसी पीटीआई की खबर के मुताबिक, वायुमंडलीय विज्ञान विभाग के वैज्ञानिक एस अभिलाष ने इडुक्की और कोट्टायम जिलों के सबसे बुरी तरह प्रभावित क्षेत्रों में दो घंटे में 5 सेमी से अधिक बारिश होने का हवाला देते हुए कहा कि यह एक प्रकार से छोटे बादल फटने की घटना है। दूसरी ओर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि केंद्र भारी बारिश और बाढ़ से प्रभावित केरल के लोगों को हर संभव सहायता मुहैया कराएगा। इस संबंध में आप लोगों की क्‍या प्रतिक्रियायें है? कमेंट बॉक्‍स में अवश्‍य लिखें। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

Leave a comment

Your email address will not be published.